लॉकडाउन की वजह से भारत में पैदा होंगे 10 करोड़ नए गरीब

लॉकडाउन की वजह से भारत में पैदा होंगे 10 करोड़ नए गरीब

लॉकडाउन की वजह से भारत में पैदा होंगे 10 करोड़ नए गरीब

News Josh: कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था डगमगा गयी हैं. इसने विश्व के सारे देशों को आर्थिक स्तर पर भी नुकसान पहुँचाया हैं. भारत की बात करें तो इसने भारत को भी आर्थिक स्तर पर नुकसान पहुँचाया है. यूनाइटेड नेशंस यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया हैं की लॉकडाउन के कारण भारत में 10 करोड़ नए गरीब पैदा हो सकते है.

आपको बता दें की यूनाइटेड नेशंस यूनिवर्सिटी ने ये रिसर्च विश्व बैंक की तरफ से तय गरीबी रेखा से नीचे वालों के लिए निर्धारित आय के मानकों के आधार पर किया है. इस रिसर्च के अनुसार, यदि कोरोना अपनी सबसे खराब स्थिति तक पहुंचता जाता है तो भारत में 104 मिलियन यानी 10.4 करोड़ नए गरीब पैदा हो जाएंगे.

इस रिसर्च में बताया गया हैं की भारत में फिलहाल 81.2 करोड़ लोग ग़रीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं. लॉकडाउन और महामारी से पड़ने वाले आर्थिक प्रभाव के कारण भारत में गरीबों की संख्या बढ़कर 91.6 करोड़ पर पहुंच जाएगी.

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x