कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस का प्रर्दशन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस का प्रर्दशन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस का प्रर्दशन, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

News Josh Live, 28 Sept, 2020

राज्यसभा में कृषि विधेयकों के पारित होते ही विपक्ष और किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस सड़कों पर उतर कर बीजेपी के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन कर रही है। बता दें कि कांग्रेस नेता पार्टी कार्यालय से राजभवन तक पैदल मार्च कर राज्यपाल को सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा हैं।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी का मानना है कि ये तीन कृषि विधेयक किसान विरोधी है, इसके लागू होने से किसानों के साथ अन्याय होगा। कांग्रेस ने किसानों के प्रति एकजुटता दिखाकर उनका समर्थन किया और आज चंडीगढ़ में विरोध प्रदर्शन कर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा हैं।

राज्यपाल को ज्ञापन देने के बाद हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी विवेक बंसल ने कहा कि कांग्रेस ने कृषि बिलों के संसोधन की मांग को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंप दिया है। लेकिन, राज्यपाल अपने पद के चलते संवैधानिक तौर पर बंधे हुए है। राज्यपाल ने हमारी मांग पर मानवीय दृष्टिकोण दिखाया है। बंसल ने कहा कि कांग्रेस के लिए ये लड़ाई एक-दो दिन की नही हैं। कांग्रेस हमेशा कार्यकर्ता औऱ नेता किसानों के समर्थन में खड़ा रहेगा और किसानों के हित में कांग्रेस का सँघर्ष जारी रहेगा।

इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने कहा कि कांग्रेस 2 अक्टूबर को प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन करेगी। वहीं किसानों के कंधे पर बंदूख रखने के सवाल पर जवाब देते हुए सैलजा ने कहा कि सरकार ने ये मौका कांग्रेस को आखिरकार दिया ही क्यों….? सरकार ने किसान विरोधी फैसला लिया तभी कांग्रेस को किसान के समर्थन में सड़क पर आना पड़ा है।

इस दौरान पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि गठबंधन सरकार हरियाणा की किसान विरोधी है। इन तीन काले कानूनों के बाद किसान को एमएसपी की चिंता रहेंगी। वहीं जेजेपी के नेताओ को अब तय करना होगा कि उनको कुर्सी प्यारी है या किसान।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x