पीपली कांड पर डिप्टी सीएम ने तोड़ी चुप्पी, बोले- पीपली की घटना निंदनीय, जांच होनी चाहिए

पीपली कांड पर डिप्टी सीएम ने तोड़ी चुप्पी, बोले- पीपली की घटना निंदनीय, जांच होनी चाहिए

पीपली कांड पर डिप्टी सीएम ने तोड़ी चुप्पी, बोले- पीपली की घटना निंदनीय, जांच होनी चाहिए

News Josh Live, 14 Sept, 2020

पीपली में कृषि अध्यादेशों और किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर प्रदेश के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का बड़ा बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने पीपली लाठीचार्ज को निंदनीय बताते हुए कहा कि वहां पर उन लोगों के विरुद्ध जांच होनी चाहिए, जिन्होंने पहले रोका और फिर उन्हीं ने अनुमति देने का काम किया।

वहीं कृषि अध्यादेश को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अभी कोई भी अध्यादेश जारी नहीं किया है। केंद्र सरकार तीन अध्यादेश लेकर आई है, जिसके अंदर किसान की फसल एमएसपी पर उसी तरीके से खरीदी जाएगी जैसे कि अब खरीदी जा रही है।


उन्होंने कहा कि अध्यादेश के बाद इस व्यवस्था पर कोई भी बदलवा देखने को नहीं मिलेगा। दुष्यंत चौटाला रविवार को गुरुग्राम जिले के गांव भोड़ा कलां में पूर्व विधायक गंगाराम के पौत्र मोहित कुमार के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त करने पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने गांव में ही महेश चौहान के निवास पर जन समस्याएं सुनी और मीडिया प्रतिनिधियों से वार्ता की।

‘कांग्रेस भ्रामक प्रचार कर रही है’– वार्ता के दौरान उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस द्वारा ये भ्रामक प्रचार किया जा रहा है कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि अध्यादेशों से किसान को बहुत नुकसान होगा, जबकि इसके विपरीत इन अध्यादेशों से किसान की बचत पहले से भी ज्यादा होगी और हमारा मंडी का सिस्टम भी धराशायी नहीं होगा।


किसानों को होगा फायदा- उन्होंने स्पष्टतौर पर कहा कि बार-बार सरकार सरसों और नरमे फसलों की खरीद के लिए निजी खरीददारों के पीछे जाती थी, उनको मोनिटर करती थी। इन अध्यादेशों में ऐसे लोगों को छूट दी गई है कि अगर वे मंडी एरिया से बाहर यदि अपनी फसल खरीदते और बेचते हैं तो मार्केट फीस के अंतर्गत ही काम करना पड़ेगा।

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x