पानीपत-हिसार में बन रहे कोविड अस्पतालों के दौरे के बाद डिप्टी सीएम की हाई लेवल बैठक

पानीपत-हिसार में बन रहे कोविड अस्पतालों के दौरे के बाद डिप्टी सीएम की हाई लेवल बैठक

पानीपत-हिसार में बन रहे कोविड अस्पतालों के दौरे के बाद डिप्टी सीएम की हाई लेवल बैठक

पानीपत-हिसार में बन रहे कोविड अस्पतालों के दौरे के बाद डिप्टी सीएम की हाई लेवल बैठक
500 बेड के दोनों अस्पतालों को जल्द क्रियान्वित करने के लिए अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

चंडीगढ़, 9 मई – कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर नियंत्रण के लिए हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने फील्ड में उतरने के बाद रविवार को चंडीगढ़ आते ही कई विभागों के अधिकारियों के साथ हाई लेवल बैठक की।
बैठक में दुष्यंत चौटाला ने कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए पानीपत और हिसार जिले में बन रहे 500-500 बेड के अस्थाई अस्पतालों को जल्द क्रियान्वित करने के लिए स्वास्थ्य, लोक निर्माण विभाग समेत कई विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा करते हुए उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर राज्यमंत्री श्री अनूप धानक समेत विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।
डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार का निरंतर प्रयास है कि कोरोना संक्रमित मरीजों को समय पर बेहतर उपचार की सुविधा उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए हिसार व पानीपत में 500-500 बेड के अस्पतालों का निर्माण कर रही है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि 500-500बेड के दोनों अस्थाई अस्पताल जल्द तैयार हों, इसके लिए राज्य मंत्री अनूप धानक की कार्य की मॉनिटरिंग करने की जिम्मेदारी लगाई गई है। दुष्यंत चौटाला ने इन दोनों अस्पतालों में स्टाफ के तैनाती के लिए अधिकारियों को आदेश दिए कि श्रम विभाग के अन्तर्गत ईएसआई का स्टाफ, डिस्पेंसरी के कर्मचारी व हेल्थ केयर वर्कर्स संबधित जिले के सीएमओ के अधीन अपनी ड्यूटी करेंगे।
साथ ही, उपमुख्यमंत्री ने फाइनल इयर के मेडिकल स्टूडेंट, इनटर्न (प्रशिक्षु) से अपील की कि वे इस कोरोना महामारी की दूसरी लहर से निपटने में सरकार के सहयोग के लिए बढ़-चढकऱ आगे आएं और अस्पतालों में कोविड ड्यूटी करें। उन्होंने कहा कि सरकार भी उनके सहयोग के लिए अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए कोविड ड्यूटी करने वाले मेडिकल स्टूडेंट, इनटर्न को उचित मानदेय देने का कार्य करेगी।
बैठक के दौरान दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई नियमित रूप से सुचारू रखने के लिए अधिकारियों को उचित व्यवस्था बनाने के लिए दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पीएम केयर फंड व डीआरडीओ द्वारा प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं तथा प्राइवेट अस्पतालों में भी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएंगे।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x