हरियाणा में "ई-संजीवनी ओपीडी" की हुई शुरुआत, कोरोनाकाल में हॉस्पिटल जाने का झंझट होगा खत्म

हरियाणा में “ई-संजीवनी ओपीडी” की हुई शुरुआत, कोरोनाकाल में हॉस्पिटल जाने का झंझट होगा खत्म

हरियाणा में  “ई-संजीवनी ओपीडी” की हुई शुरुआत, कोरोनाकाल में हॉस्पिटल जाने का झंझट होगा खत्म

News Josh Live, 16 Sept, 2020

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में ‘ई-संजीवनी ओपीडी’ के नाम से स्टे होम ओपीडी की शुरुआत कर दी है। इससे राज्य के मरीज स्वयं को ई-संजीवनी पर पंजीकृत कर नि:शुल्क ऑनलाइन चिकित्सक परामर्श ले सकते हैं। स्वास्थ्य व गृह मंत्री अनिल विज ने मंगलवार को यहां कहा कि कोरोना महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के फलस्वरूप अन्य बीमारियों के मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इसीलिए केंद्र सरकार ने ई-संजीवनी ओपीडी की शुरुआत की है।

इसी सेवा को हरियाणा में भी शुरू किया जा चुका है और अभी तक एक हजार से अधिक मरीज इसका लाभ उठा चुके हैं। राज्य के सभी मरीजों को यह सुविधा पूरी तरह से फ्री दी जा रही है। इसके लिए मरीजों को ई-संजीवनी ओपीडी ऐप को अपने मोबाइल में डाउनलोड करना होगा। इसके बाद टोकन नंबर जनरेट होगा। विज ने कहा कि सरकार ने प्रत्येक मरीज को उनके घर पर ही चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कृतसंकल्प है।

ई-संजीवनी एप के जरिये कोई भी मरीज अपने स्थान से ही वीडियो कॉल या लाइव चैट के जरिये चिकित्सक के साथ जुड़ सकता है। लेपटॉप, डेस्कऑप, एंड्राइड या स्मार्ट फोन का उपयोग कर डॉक्टर से ऑनलाइन परामर्श करने की सुविधा होगी। इस प्लेटफार्म पर मरीज अपनी सभी रिपोर्ट को अपलोड कर डाक्टर से बीमारी और उसके उपचार संबंधी जानकारी ले सकता है। डॉक्टर अपने मरीज को लैब टेस्ट या दवाई की पर्ची भी ऑनलाइन उपलब्ध करवाएगा, जो चिकित्सा के लिए हरियाणा की सभी अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए मान्य होगी।

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x