'तुम से हैं हम' वाक्य से हुई मिशन चहक की शुरुआत, देखिए क्या हैं योजना?

‘तुम से हैं हम’ वाक्य से हुई मिशन चहक की शुरुआत, देखिए क्या हैं योजना?

‘तुम से हैं हम’ वाक्य से हुई मिशन चहक की शुरुआत, देखिए क्या हैं योजना?

News Josh Live, 10 sept 2020

हिसार जिला प्रशासन ने घरेलू महिला कामगारों को सशक्त बनाने के लिए अनुठी पहल करते हुए मिशन चहक की शुरूआत की है। तुम से हम हैं, के आदर्श वाक्य के साथ शुरू किए गए इस अभियान के तहत घरों में काम करने वाली महिलाओं और उनके बच्चों के जीवन स्तर में सुधार के लिए विभिन्न कदम उठाए जांएगे। उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने मिशन चहक की सफलता को लेकर गुरूवार को लघु सचिवालय के जिला सभागार में योजना से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली और उन्हें जरूरी दिशा निर्देश दिए।

 

ऐसे होगी मिशन चहक की शुरूआत :-
मिशन चहक का पॉयलेट प्रोजेक्ट पहले नगर निगम क्षेत्र में चलाया जाएगा। निगम द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में एक सर्वे करवाया जाएगा। इसके बाद एक डाटाबेस तैयार होगा और जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाएगा। इस कार्य में जिला कार्यक्रम अधिकारी व महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर विभिन्न क्षेत्रों में जागरूकता शिविर आयोजित करेंगे। जिला अटोर्नी, सीएमओ, वन स्टॉप सेंटर के अधिकारी व कर्मचारी, जिला बाल तथा महिला सरंक्षण अधिकारी व डीआईपीआरओ जागरूकता शिविरों के माध्यम से घरेलू महिला कामगारों को उनके अधिकारों और विभिन्न योजनाओं की जानकारी देंगे।

मिशन चहक के उद्देश्य :-
मिशन चहक के तहत सबसे पहले घरेलू महिला कामगारों की पहचान की जाएगी। इसके पश्चात उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाएगा। इसके साथ ही घरेलू महिला कामगारों को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए मदद की जाएगी। उपायुक्त ने कहा कि घरेलू महिला कामगार भारतीय अर्थव्यवस्था का वो हिस्सा वो है जिनकी अभी तक कोई खास पहचान नहीं है। कोरोना काल में बढ़ी संख्या में घरेलू महिला कामगार बेरोजगार भी हुई हैं। इसलिए इन्हें रोजगार उपलब्ध करवाकर और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ देकर इनके जीवन स्तर में सुधार लाना मिशन चहक का मुख्य मकसद है।

सरकार की योजनओं का लाभ :-
उपायुक्त डॉ.प्रियंका सोनी ने बताया कि घरेलू महिला कामघारों को श्रम विभाग, समाज कल्याण विभाग तथा कल्याण विभाग, विभिन्न बैंक, जिला शिक्षा अधिकारी, आईटीआई प्रधानाचार्य, जिला सांख्यिकी अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से विभिन्न प्रकार की योजनाओं में शामिल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि योजना को सफलता पूर्वक लागू करने के लिए नगर निगम आगामी 10 दिनों में सर्वे का कार्य पूरा कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। इसी प्रकार से जिला कार्यक्रम अधिकारी एक सप्ताह में जागरूकता अभियान के संदर्भ में प्रचार व अन्य सामग्री तैयार करेगा। इसी अवधि के दौरान समाजिक सुरक्षा योजनाओं से जुड़े सभी विभाग अपनी-अपनी योजनाओं के संबंध में रिपोर्ट तैयार करेंगे।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x