हरियाणा में पंचायत चुनाव की पुरानी प्रकिया पर लगाई गई रोक, जानिए वजह

हरियाणा में पंचायत चुनाव की पुरानी प्रकिया पर लगाई गई रोक, जानिए वजह

हरियाणा में पंचायत चुनाव की पुरानी प्रकिया पर लगाई गई रोक, जानिए वजह

News Josh Live, 01 Oct, 2020

हरियाणा में अगले साल फरवरी में होने वाले सरपंची के प्रस्तावित चुनावों को लेकर सरकार ने बड़े स्तर पर तैयारियां शुरु कर दी है। हालांकि पंचायतों स्तर पर निकाले जा रहे ड्रा और कार्यवाही को फिलहाल लंबित रखने के लिए आदेश दिये हैं।

प्रदेश में पंचायती राज संस्थाओं जिला परिषद, पंचायत समिति, ग्राम पंचायत के चुनाव होने हैं। इसके लिए सरकार ने महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया है, लेकिन यह विधेयक विधानसभा में पास नहीं हुआ है। ऐसे में अब पंचायती राज सिस्टम में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देने के लिए सिस्टम तैयार किया जा रहा है।

विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव ने पंचायती राज संस्थाओं में सीटों के आरक्षण से जुड़े मामले लंबित रखने के आदेश दिए हैं। इस संदर्भ में प्रधान सचिव द्वारा सभी डीसी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारियों व खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों को कहा गया है कि वे आगामी आदेशों तक आरक्षण के मामलों को लंबित रखें।

आपको बता दें कि वर्तमान में पंचायतों में महिलाओं के लिए 33 फीसदी सीटें आरक्षित हैं। पिछड़ा वर्ग व अनुसूचित जाति के लोगों के लिए सीटें रिजर्व की हुई हैं। कौन सी सीट सामान्य रहेगी और कौन सी रिजर्व कैटेगरी में आएगी, इसका फैसला हर साल ड्रा के माध्यम से किया जाता है। अब चूंकि पंचायतों के चुनावों में अधिक समय नहीं है। ऐसे में ग्राउंड स्तर पर यह काम शुरू हो गया था।

इस बीच राज्य सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने का निर्णय लिया है। ऐसी स्थिति में अब सीटों को भी इसी आधार पर आरक्षित किया जाएगा। इसलिए आरक्षण के मामलों को फिलहाल लंबित किया गया है।

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x