किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति ने कृषि बिल पर किए हस्ताक्षर, अब विरोध की नहीं कोई गुंजाइश

किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति ने कृषि बिल पर किए हस्ताक्षर, अब विरोध की नहीं कोई गुंजाइश

किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति ने कृषि बिल पर किए हस्ताक्षर, अब विरोध की नहीं कोई गुंजाइश

News Josh Live, 27 Sept, 2020

देशभर में किसानों और विपक्ष के विरोध के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज किसानों और खेती से जुड़े बिलों पर हस्ताक्षर कर दिये हैं। इन बिलों को लेकर किसान संगठन और विपक्ष के नेता लगातार वापस लेने का दबाव बना रहे थे, लेकिन रविवार को राष्ट्रपति ने इनको मंजूरी दे दी।

किसानों को लेकर संसद के मॉनसून सत्र में लाए गए कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सुविधा) विधेयक 2020, कृषक (सशक्तीकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक-2020 को पहले संसद के दोनों सदनों की मंजूरी मिल चुकी है, अब इस पर राष्ट्रपति की मुहर भी लग चुकी है। ये तीनों विधेयक कोरोना काल में पांच जून को घोषित तीन अध्यादेशों की जगह लेंगे।

हालांकि इन बिलों को लेकर विपक्ष जहां हमलावर था वहीं किसान संगठन भी लगातार धरने प्रदर्शन कर रहे थे। 25 सितंबर को किसान संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया था। वहीं कांग्रेस की तरफ से भी लगातार धरने प्रदर्शन किये जा रहे हैं।

इन्ही बिलों के विरोध में NDA की 22 साल की सहयोगी पार्टी शिरोमणि अकाली दल ने भी गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया था। इससे पहले अकाली दल की तरफ से केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी इस्तीफा दे दिया था।


            

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x