लॉकडाउन में क्राइम अनलॉक, रोहतक में 30 दिन में छह हत्याएं, पुलिस को खुली चुनौती दे रहे अपराधी

लॉकडाउन में क्राइम अनलॉक, रोहतक में 30 दिन में छह हत्याएं, पुलिस को खुली चुनौती दे रहे अपराधी

लॉकडाउन में क्राइम अनलॉक, रोहतक में 30 दिन में छह हत्याएं, पुलिस को खुली चुनौती दे रहे अपराधी

रोहतक। लॉकडाउन के दौरान पूरे मई माह में जहां पुलिस कोरोना नियमों का पालन कराने में जुटी रही तो वहीं अपराधियों ने चुनौती देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हालात यह रहे कि मई माह में छह लोगों को मौत के घाट उतारा गया। इसमें दो मामले तो ऐसे भी रहे जिसमें अपने परिवार के लोग ही जमीन और रुपयों के लिए कातिल बन गए। इसके अलावा नशीले पदार्थ के भी 15 से अधिक मामले पकड़े गए।

दरअसल, पिछले कुछ माह से आपराधिक मामलों पर लगाम लगी हुई थी। हत्या के इक्का-दुक्का मामलों को छोड़कर जिले में शांति का माहौल था, लेकिन मई के आंकड़ों को देखकर लग रहा है कि अपराधियों ने लॉकडाउन का पूरा फायदा उठाया। 11 मई को बालंद गांव के सिक्योरिटी गार्ड की दिनदहाड़े बीच रास्ते पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इसके अलावा किलोई गांव में भी धर्मबीर हत्याकांड को अंजाम दिया गया। हत्याओं का सिलसिला यहीं पर नहीं रुका।

एलएलबी के छात्र को गोलियों से भून दिया था

24 मई को वैश्य कालेज के स्टेडियम में एलएलबी के छात्र को गोलियों से भून दिया गया। इस मामले में अभी तक एक आरोपित ही पुलिस के हत्थे चढ़ा है। 29 मई का दिन पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं रहा। सुबह के समय सांघी गांव में अनिल नाम के युवक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। इसके बाद शाम के समय माजरा गांव में सुखबीर उर्फ राजा को धारदार हथियार से मौत के घाट उतार दिया गया। कुछ घंटे बाद ही बहुअकबरपुर गांव में भी चचेरे भाई ने भाई को चाकू से गोदकर मार डाला। एक ही दिन में हत्या की तीन वारदात से पुलिस में भी हड़कंप मच गया। इससे पहले मायना गांव में देवर ने भाभी को मौत के घाट उतारा तो वहीं चुलियाना गांव में भी महिला की हत्या कर दी

नशीले पदार्थ के मामले भी बढ़े

लॉकडाउन में नशीले पदार्थ के मामलों में भी काफी इजाफा हुआ। पूरे मई माह में नशीले पदार्थ के साथ 15 से अधिक आरोपित पकड़े गए। जिसमें गांजे की कई बड़ी खेप भी पकड़ी गई। इसके अलावा हेरोइन, सुल्फा और प्रतिबंधित दवाइयों की खेप भी पुलिस ने पकड़ी। यह मामले तो वह थे जो पुलिस के हत्थे चढ़ गए। इसके अलावा कुछ ऐसे भी रहे जो पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहे।

अपराध पर लगाम कसने के लिए दिए निर्देश

डीएसपी हेडक्वार्टर रोहतक गोरखपाल राणा ने बताया कि अपराध पर लगाम कसने के लिए सभी थाना पुलिस को निर्देश दिए गए हैं। हत्या के अधिकतर मामलों में आरोपितों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है। जो आरोपित फरार चल रहे हैं उन्हें भी जल्दी ही पकड़ लिया जाएगा। इसके अलावा नशीले पदार्थों की तस्करी को लेकर भी बड़े स्तर पर लगातार कार्रवाई की जा रही है।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x