अच्छी खबरः अगर लॉकडाउन के दौरान चुकाई है EMI तो मिलेगा फायदा, जानिए कैसे

अच्छी खबरः अगर लॉकडाउन के दौरान चुकाई है EMI तो मिलेगा फायदा, जानिए कैसे

अच्छी खबरः अगर लॉकडाउन के दौरान चुकाई है EMI तो मिलेगा फायदा, जानिए कैसे

News Josh Live, 25 Oct, 2020

दशहरे के खास मौके पर हम आप सभी के लिए एक अच्छी खबर लेकर आए हैं। दोस्तों, अगर आपने लॉकडाउन के दौरान अपने लोन की किस्तें चुकाई हैं तो आपको बैंक द्वारा कैशबैक दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने कहा है कि अगर बैंक ग्राहकों ने लॉकडाउन के दौरान मोराटोरियम का फायदा नहीं उठाया और अपने लोन की किस्तें देते रहे हैं तो कैशबैक का लाभ मिलेगा।

कोरोना काल के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लोन की ईएमआई पर लिए गए ब्याज के ऊपर ब्याज पर छूट देने के दिशा-निर्देश सरकार द्वारा जारी कर दिए गए हैं। ऐसे में अब लोगों को फेस्टिव सीजन के दौरान ब्याज पर लिए ब्याज की रकम वापस मिल पाएगी।

समय पर EMI चुकाने वालों को मिलेगा फायदा–

सरकार ने साफ लफ्जों में कहा है कि अगर किसी कर्जदार ने मोराटोरियम का लाभ नहीं उठाया और किस्त का भुगतान समय पर किया है तो बैंक से उन्हें कैशबैक अवश्य मिलेगा। इस स्कीम के तहत ऐसे कर्जदारों को 6 महीने के सिंपल और कम्पाउंड इंट्रेस्ट में डिफरेंस का लाभ भी प्राप्त होगा।

महामारी के चलते दी गई सुविधा– 

भारतीय रिजर्व बैंक ने कोरोना वायरस महामारी के समय में ग्राहकों की सुविधाओं का ख्याल रखते हुए उन्हें छह महीनों के लिए लोन मोराटोरियम की सुविधा उपलब्ध कराई थी। इस दौरान जो लोग वित्तीय रूप से ईएमआई का भुगतान करने में असमर्थ थे, उन्होंने इसका फायदा उठाया है। वहीं कई लोगों ने मोराटोरियम अवधि के दौरान भी नियमित रूप से किस्त दी है। ऐसे लोगों को बैंक कैशबैक दिया जाएगा।

1 मार्च से 31 अगस्त तक मिली ये सुविधा–

लोन मोराटोरियम की सुविधा 1 मार्च से 31 अगस्त तक के लिए लागू की गई थी। बाद में मोराटोरियम पीरियड के दौरान ब्याज पर ब्याज का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और सरकार ने कहा कि कर्जदारों को ब्याज पर ब्याज नहीं भरना होगा। इससे सरकारी खजाने पर करीब 7000 करोड़ का असर होगा।

2 करोड़ तक लोन पर मिली थी छूट- 

सरकार ने पिछले दिनों 2 करोड़ तक लोन लेने वालों को मोराटोरियम के दौरान ब्याज पर ब्याज में माफी की घोषणा की थी। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दाखिल कर कहा था कि एमएसएमई लोन, एजुकेशन, हाउसिंग, कंज्यूमर, ऑटो, क्रेडिट कार्ड बकाया और उपभोग लोन पर लागू चक्रवृद्धि ब्याज (ब्याज पर ब्याज) को माफ किया जाएगा। सरकार के मुताबिक 6 महीने के लोन मोराटोरियम समय में दो करोड़ रुपये तक के लोन के ब्याज पर ब्याज की छूट देगी।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x