वेंटिलेटर पर युवती से दुष्कर्म मामले में पुलिस का सनसनीखेज दावा, अस्पताल में नहीं हुआ दुष्कर्म

वेंटिलेटर पर युवती से दुष्कर्म मामले में पुलिस का सनसनीखेज दावा, अस्पताल में नहीं हुआ दुष्कर्म

वेंटिलेटर पर युवती से दुष्कर्म मामले में पुलिस का सनसनीखेज दावा, अस्पताल में नहीं हुआ दुष्कर्म

News Josh Live, 01 Nov, 2020

दिल्ली से सटे साइबर सिटी गुरुग्राम के नामी फोर्टिस अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती युवती के साथ दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने गहनता से जांच पड़ताल की है। जांच के बाद पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया कि पीड़िता के साथ इस अस्पताल में दुष्कर्म नहीं हुआ।

आपको बता दें कि इस मामले में नोडल अधिकारी एसीपी उषा कुंडू को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। जांच के मुताबिक युवती के साथ अस्पताल में दुष्कर्म का कोई सुराग नहीं मिला है। जिससे कयास लगाए जा रहे है कि शायद युवती के साथ कहीं और गलत काम हुआ है।

बता दें कि 21 अक्टूबर को एक 21 वर्षीय युवती को सांस लेने में तकलीफ होने पर फोर्टिस अस्पताल के आइसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था। मंगलवार को जब युवती के पिता उससे मिलने अस्पताल गए तो युवती ने लिखकर अपने पिता को दुष्कर्म किए जाने की बात बताई थी। पिता के बयान पर सुशांत लोक थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

बीते शनिवार को देर शाम हरियाणा महिला आयोग की कार्यवाहक अध्यक्ष प्रीति भारद्वाज व एसीपी उषा कुंडू ने अस्पताल का दौरा कर गहनता से जांच पड़ताल की। शनिवार को युवती ने पुलिस को बयान दिया है, जिसके बाद पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने बताया कि अस्पताल स्टाफ से पूछताछ सीसीटीवी फुटेज और युवती के बयान के बाद जांच टीम इस नतीजे पर पहुंची की अस्पताल में दुष्कर्म जैसी घटना को अंजाम नहीं दिया गया लेकिन मामले की जांच अभी जारी है।

वहीं फोर्टिस मेमोरियल प्रबंधन ने बयान जारी कते हुए कहा है कि मरीज को बेहद गंभीर स्थिति में अस्पताल लाया गया था। हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारी मेडिकल टीम के लगातार प्रयासों से मरीज की हालत अब स्थिर है। पुलिस ने जांच में मान लिया कि कोई वारदात नहीं हुई। अस्पताल प्रबंधन महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा पर जोर देता है।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x