बेटी को गोद में ले जा रहे शराब व्यापारी की 24 गोलियां मारकर हत्या, भाई घायल

बेटी को गोद में ले जा रहे शराब व्यापारी की 24 गोलियां मारकर हत्या, भाई घायल

बेटी को गोद में ले जा रहे शराब व्यापारी की 24 गोलियां मारकर हत्या, भाई घायल

News Josh Live, 10 Oct, 2020

हरियाणा के सोनीपत जिले से रोगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है। बता दें कि सोनीपत के गांव लिवासपुर में एक शराब कारोबारी की 24 गोलियां मारकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। उसे बचाने आए शराब कारोबारी का भाई भी हाथ में गोली लगने से घायल हो गया। वहीं इस वारदात को अंजाम पुरानी रंजिश के चलते दिया गया है।

उधर, हमलावर पक्ष के युवक को भी सीने में गोली लगी है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां हमलावर पक्ष के युवक की हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने मृतक के भाई के बयान पर 12 नामजद आरोपियों पर हत्या, हत्या का प्रयास, षड्यंत्र रचना व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि हत्या का षड्यंत्र फरीदाबाद जेल में बंद आरोपियों ने रचा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव लिवासपुर निवासी सुखविंद्र उर्फ धोला शराब का कारोबार करता था। विकास ने पुलिस को बताया कि उसका भाई सुखविंद्र शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे घर से अपनी डेढ़ साल की बेटी भाविका को लेकर प्लाट की तरफ जा रहा था। जब वह गांव की चौपाल के सामने गांव के संदीप के घर के आगे पहुंचा तो संदीप ने उसे रोक लिया।

उसके भाई ने अपनी बेटी को गोद से नीचे उतार दिया। इसी बीच संदीप के घर से पांच-छह अन्य युवक निकलकर आए और आते ही ताबड़तोड़ गोली चला दी। सुखविंद्र के शरीर को गोलियों से छलनी कर हत्या कर दी। बताया गया है कि सुखविंद्र को करीब 24 गोली लगी है। चार गोली उसके शरीर के अंदर मिली है।

इसी बीच उसका बड़ा भाई रवींद्र बीच बचाव को आया तो उसके हाथ में भी गोली मार दी। बाद में हमलावर भागने लगे तो दूसरे पक्ष के संदीप के सीने में भी गोली लग गई। उसके बाद हमलावर फरार हो गए।

विकास ने आरोप लगाया कि उसके भाई का गांव खेवड़ा निवासी प्रदीप उर्फ भोला, सूरज व कुलदीप तथा उनके गांव के दीपक के साथ झगड़ा हो गया था। इनमें से दीपक फरीदाबाद जेल में बंद है। प्रदीप उर्फ भोला कुछ समय पहले ही जेल से जमानत पर आया था।

इन सभी ने अपने परिवार के सदस्यों संग मिलकर षड्यंत्र के तहत उसके भाई की हत्या की है। हमलावरों में दो युवकों को अनुज व अमन के नाम से पुकार रहे थे। बाद में वे बाइकों पर सवार होकर फरार हो गए। पुलिस ने विकास के बयान पर खेवड़ा के प्रदीप, सूरज व कुलदीप, अमन, अनुज, लिवासपुर निवासी बस्तीराम के बेटे संदीप, दीपक व पत्नी निर्मला, धज्जाराम, धज्जाराम की पत्नी विमला, बेटे सुमित व अमित के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, मारपीट व षड्यंत्र का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सामने आया है कि दो साल से बस्तीराम के परिवार से सुखविंद्र की कहासुनी चली आ रही थी। उस पर एक साल पहले मारपीट का आरोप भी लगा था। भागते हुए हमलावर एक सीसीटीवी में दिखाई दे रहे हैं, जिसके आधार पर भी पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x