ओमप्रकाश चौटाला ने अशोक अरोड़ा पर साधा निशाना, कहा- दगाबाज़ और धोखेबाज़ को अब नहीं किया जाएगा बर्दास्त

ओमप्रकाश चौटाला ने अशोक अरोड़ा पर साधा निशाना, कहा- दगाबाज़ और धोखेबाज़ को अब नहीं किया जाएगा बर्दास्त

ओमप्रकाश चौटाला ने अशोक अरोड़ा पर साधा निशाना, कहा- दगाबाज़ और धोखेबाज़ को अब नहीं किया जाएगा बर्दास्त

News Josh Live, 14 Oct, 2020

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला से आज इंडियन नेशनल लोकदल की ओर से आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जेजेपी के साथ आने पर सवाल किया गया। जिसका जवाब देते हुए ओमप्रकाश चौटाला ने अपने पोते दुष्यंत चौटाला को लेकर बड़ी बात कह दी। उन्होंने कहा कि “हमें किसी के साथ आने में आपत्ति नही है, जब ये लोग छोड़कर गए तो हमने कहा था मिलाकर चलो। इक्कठे चुनाव लड़ते तो सरकार हमारी बननी थी। मैं और अजय सीएम नही बन सकते थे, अभय ने कहा था चुनाव नही लड़ूंगा। चौथी पीढ़ी के लोगों को मौका मिलना था, जो देवी लाल को छोड़कर गौतम को दादा मानते है, दुष्यंत ही सीएम बनते।”

गौरतलब है कि इनेलो को छोड़कर अजय चौटाला और उनके दोनों बेटों दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला ने जननायक जनता पार्टी का गठन किया था। अब जहां एक तरफ इनेलो अपने एक विधायक के साथ विधानसभा में है, वहीं जेजेपी 10 विधायकों के साथ बीजेपी के साथ सत्ता में है। सरकार में  दुष्यंत चौटाला डिप्टी सीएम के पद पर हैं।

ओपी चौटाला ने कहा पार्टी प्रेजिडेंट अशोक अरोड़ा को सम्मान हमने दिया था, अब वो इस प्रयास में है कि आइएनएलडी में शामिल हो जाएं। अशोक अरोड़ा का मुझे सन्देश आ रहे है , संपत सिंह व रामपाल माजरा का भी सन्देश आ रहा है। जजपा के कई नेता भी वापस चाहते हैं। लेकिन हम दगाबाज़ और धोखेबाज़ लोगों को अब बर्दास्त नही करेंगे। हमारी सोच परिवार तक नही है पूरी पार्टी हमारा परिवार है। मैं आज भी राजनीति में सक्रिय हूँ आज भी आखिरी फैसला मेरी कलम से होता है। मैंने कभी पार्टी की कमान छोड़ी ही नही थी।

ओपी चौटाला ने कहा 20 नवम्बर को कुरुक्षेत्र में विशालतम रैली करने जा रहे है। किसान बचाओ रैली से स्पष्ठ हो जाएगा कि सरकार से किस तरह लोग परेशान है। कृषि कानूनों की आम आदमी को जानकारी नहीं, मगर देश बर्बाद हो जाएगा। हरियाणा में इसका परिणाम बरोदा उपचुनाव से स्पष्ठ हो जाएगा।

 

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x