हरियाणा में मूंगफली उत्पादक किसानों को बड़ी राहत, इस तारीख से होगी MSP पर खरीद

हरियाणा में मूंगफली उत्पादक किसानों को बड़ी राहत, इस तारीख से होगी MSP पर खरीद

हरियाणा में मूंगफली उत्पादक किसानों को बड़ी राहत, इस तारीख से होगी MSP पर खरीद

News Josh Live, 27 Oct, 2020

प्रदेश सरकार ने मूंगफली उत्पादक किसानों को बड़ी राहत देते हुए 1 नवंबर से मूंगफली 5275 MSP पर खरीदने का फैसला किया गया है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के ACS पीके दास ने जानकारी देते हुए बताया कि सात मंडियों में 1 नवम्बर से मूंगफली की खरीद शुरू होगी। जिसमें हिसार जिले में हिसार और आदमुपर, फतेहाबाद में फतेहाबाद और भट्टू कलां, सिरसा जिले में नाथुश्री चौपटा ,ऐलनाबाद और कालांवाली में खरीद होगी।

वहीं पीके दास ने बताया कि 17 हजार एकड़ में मूंगफली का रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर हुआ है। दास ने कहा 42 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हुई है। जिसकी 3 हजार करोड़ की पेमेंट की गई है जबकि शुरुआत में जो ऑफलाइन खरीद हुई उसकी पेमेंट अभी प्रोसेस नही की गई। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 756 टन मूंग ,2 लाख 80 हजार टन बाजरा और मक्का 2 हजार 471 टन खरीदा गया है।


आपको बता दें कि केंद्र सरकार हर वर्ष 23 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करती है । इन फसलों की MSP खरीद राज्यवार उत्पादन के अनुसार की जाती हैं जिन राज्यों में जिस फसल का उत्पादन अधिक होता है उस आधार पर ही समर्थन मूल्य पर खरीदी अभी होती है ताकि किसानों को उसकी उपज का बाजिव दाम मिल सके। इस वर्ष केंद्र सरकार द्वारा मूंगफली का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5,275 रुपये तय किया गया है। किसानों को इस दाम पर बेचने के लिए पंजीकरण करवाना होता है। पंजीकरण करवाने के पश्चात् ही किसान इन फसलों को मंडी में समर्थन मूल्य पर बेच सकता है।

समर्थन मूल्य पर मूंगफली पंजीयन हेतु आवश्यक दस्तावेज

जनआधार कार्ड नम्बर,

खसरा नम्बर,

गिरदावरी की प्रति,

बैंक पासबुक की प्रति

किसानों को यह दस्तावेज पंजीकरण फार्म के साथ अपलोड़ करने होगें। जिस किसान द्वारा बिना गिरदावरी के अपना पंजीयन करवाया जायेगा, उसका पंजीयन समर्थन मूल्य पर खरीद के लिये मान्य नहीं होगा। यदि ई-मित्र द्वारा गलत पंजीयन किये जाते हैं या तहसील के बाहर पंजीकरण किये जाते है तो ऐसे ई-मित्रों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

 

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x