जींद पहुंचे राकेश टिकैत, बोले- केंद्र सरकार हरियाणा में शिफ्ट करना चाहती है किसान आंदोलन

जींद पहुंचे राकेश टिकैत, बोले- केंद्र सरकार हरियाणा में शिफ्ट करना चाहती है किसान आंदोलन

जींद पहुंचे राकेश टिकैत, बोले- केंद्र सरकार हरियाणा में शिफ्ट करना चाहती है किसान आंदोलन

जींद। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत उझाना गांव में धुनी लगाकर तप कर रहे किसान रामभज से मिलने पहुंचे। यहां पर सात दिन से धुनी के बीच तपस्‍या कर रहे रामभज से मुलाकात की।

राकेश टिकैत वीरवार को उझाना पहुंचे। यहां पर किसान रामभज से मिले और उनसे बातचीत करते हुए उनकी तपस्‍या खत्‍म कराई। उनके साथ गुरनाम चढूनी भी पहुंचे।

खटकड़ टोल कमेटी ने किसान रामभज को 31 हजार रुपये दिए। रामभज ने रुपये लेने से इनकार कर दिया। कमेटी ने कहा कि यह दान राशि उनकी बेटियों के लिए है। वहीं, वीर चक्र विजेता अमृत फौजी ने राकेश टिकैत को पगड़ी पहनाई।

उझाना में जाने से पहले खटकड़ टोल पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए टिकैत ने कहा कि भारत सरकार हरियाणा में आंदोलन को केंद्र बनाना चाहती है। हम आंदोलन को हरियाणा के जींद के आसपास शिफ्ट नहीं होने देंगे। इस चाल में हम सरकार को कामयाब नहीं होने देंगे।

दिल्‍ली में ही चलेगा आंदोलन

राकेश टिकैत ने कहा, मनोहर सरकार ने आंदोलन को यहां शिफ्ट करने की पूरी जिम्मेदारी ले रखी है। लेकिन ये नहीं होगा। किसी भी सूरत में दिल्ली नहीं छोड़ेंगे। हरियाणा चाहे 10,000 मुकदमे दर्ज करे। हम दिल्ली से हरियाणा में आंदोलन शिफ्ट नही करेंगे। हम किसानो को शांत रखकर दिल्ली ही केंद्रित रहेंगे।

जनता जवाब देगी

हरियाणा में टोल प्लाजा पर धरने पहले की तरह चलते रहेंगे। उत्तर प्रदेश में जिला पंचायत की तरह विधानसभा में भी वही हाल करेंगे जनता जवाब देगी।

बता दें कि उझाना गांव में पिछले एक सप्ताह से रामभज सात धुनी लगाकर रोज तीन घंटे तप कर रहे थे। रामभज को धुनी से उठाने के लिए सोमवार को भाकियू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला और प्रदेशाध्यक्ष रतन मान पहुंचे थे। लेकिन रामभज ने धुनी से उठने से इंकार कर दिया था। इसके बाद राकेश टिकैत ने आने का फैसला लिया था।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x