जिला के कोने-कोने में करवाए सेनेटाइजेशन – डस्टबिन में ही फेस मास्क का निष्पादन

जिला के कोने-कोने में करवाए सेनेटाइजेशन – डस्टबिन में ही फेस मास्क का निष्पादन

जिला के कोने-कोने में करवाए सेनेटाइजेशन – डस्टबिन में ही फेस मास्क का निष्पादन
रोहतक, 30 अप्रैल : जिला मजिस्ट्रेट कैप्टन मनोज कुमार ने हरियाणा महामारी कोविड-19 नियामक 2020 महामारी अधिनियम 1897 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत प्रदत शक्तियों का प्रयोग करते हुए नगर निगम, रोहतक को निर्देश दिये है कि जिला के हर क्षेत्र विशेषकर मैक्रो कंटोनमेंट जोन में रोजाना दो बार सैनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाए।
आदेशों में कहा गया है कि महामारी की चैन को तोडऩे के लिए फेस मास्क का उपयोग बहुत जरूरी है। लेकिन इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि उपयोग में लाए गए फेस मास्क इधर उधर ना फेंके जाएं, बल्कि उनका निष्पादन डस्टबिन में ही किया जाए। इसके साथ ही आदेशों में यह भी कहा गया है कि कोरोना के प्रति उचित व्यवहार के बारे में उठाने वाली वैन के माध्यम से प्रचार-प्रसार भी किया जाए। आदेशों में कहा गया है कि कोविड-19 एक संक्रामक रोग है। यह संक्रमित व्यक्ति के खासने- छींकने की वजह से नाक अथवा लार से निकलने वाले बुंदों से फैलता है। इससे लडऩे के लिए फुलप्रूफ मैकेनिजम नहीं है। लेकिन मास्क के प्रयोग, हैंड सैनिटाइजर और सामाजिक दूरी के सिद्धांत को अपनाकर इसे रोका जा सकता है। व्यक्तिगत व सामुदायिक स्तर पर सेनेटाइजेशन इसकी रोकथाम में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है। इसी के मद्देनजर उपरोक्त आदेश जारी किए गए हैं। आदेशों में यह भी कहा गया है कि दैनिक आधार पर इस संबंध में जिला मजिस्ट्रेट को फोटो सहित रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x