(आईएमए) की राज्य एवं जिला इकाइयां प्रदेश में कोविड मरीजों के उपचार में अपना सहयोग करेंगी

(आईएमए) की राज्य एवं जिला इकाइयां प्रदेश में कोविड मरीजों के उपचार में अपना सहयोग करेंगी

(आईएमए) की राज्य एवं जिला इकाइयां प्रदेश में कोविड मरीजों के उपचार में अपना सहयोग करेंगी

चंडीगढ़, 1 मई- हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) की राज्य एवं जिला इकाइयां प्रदेश में कोविड मरीजों के उपचार में अपना सहयोग करेंगी। इसके लिए शीघ्र ही उनसे चिकित्सकों का रोस्टर प्राप्त होने की उम्मीद है।
विज ने आज इस संबंध में आईएमए की राज्य एवं जिला इकाइयों के साथ वीडियो-कांफ्रेसिंग से बैठक करते हुए कहा कि इस राष्ट्रीय आपदा से ऊबरने के लिए हमें मिलकर काम करना होगा। इसके लिए बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने निजी क्षेत्र में काम कर रहे आईएमए के चिकित्सकों को सहयोग करने की अपील की, जिससे जिलों में अतिरिक्त बैडस की क्षमता बढ़ाने तथा रोगियों के उपचार में सहयोग करना शामिल है। उन्होंने कहा कि आईएमए के चिकित्सक अपने जिलों में शिफ्टवाईज ड्यूटी दे सकते हैं, जिससे मरीजों की परेशानी को दूर किया जा सके। इसके साथ ही पुलिस महानिदेशक को सभी अस्पतालों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश तथा जिला स्तर पर कोविड मॉनिट्रिंग कमेटी बनाई गई हैं, जो नियमित तौर पर कोविड अपडेट लेकर जरूरी व्यवस्थाएं कर रही हैं। इसी प्रकार राज्य स्तरीय कोविड निगरानी समिति भी प्रदेश स्तर पर काम कर रही है। राज्य स्तरीय कमेटी में हरियाणा आईएमए के राज्य अध्यक्ष डॉ. कर्ण पूनिया तथा सभी जिलों के आईएमए अध्यक्षों को जिला स्तरीय समितियों में सदस्य के तौर पर शामिल किया जाएगा। उन्होंने हरियाणा आईएमए से सोमवार तक विभिन्न जिलों में सेवा देने की इच्छा रखने वाले चिकित्सकों की सूची संबंधित उपायुक्त या सिविल सर्जनस को सौंपने की अपील की है।
श्री विज ने कहा कि सरकार द्वारा राज्य में इस समय दवाइयों, ऑक्सिजन व अन्य सुविधाओं को आवश्यकतानुसार उपलब्ध करवाया जा रहा है। वे चाहते हैं कि प्रदेश का कोई भी नागरिक बैडस, ऑक्सिजन, उपचार, दवाइयां व अन्य किसी अभाव के कारण अपनी जान न गंवाए। उन्होंने कहा कि सरकार ने ऑक्सिजन की आपूर्ति 162 एमटी से 257 एमटी करने में सफलता प्राप्त की है। इसके अलावा ऑक्सिजन एक्सप्रैस भी फरीदाबाद पहुंचने वाली हैं। इसके साथ ही राज्य सरकार ने प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में पढ़ रहे एमबीबीएस फाइनल व पीजी के करीब 1400 विद्यार्थियों की ड्यूटी भी अस्पतालों में लगाई है। परन्तु इसके साथ योग्य एवं एक्सपर्ट चिकित्सकों का सहयोग वांच्छनीय है।
अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि टॉसिलिजुमैब टीके के आबंटन के लिए एक तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। टॉसिलिजुमैब व रेमडेसिविर टीका सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क तथा निजि अस्पतालों को खरीद मूल्य पर आवश्यकतानुसार उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके साथ ही राज्य के अस्पतालों में ऑक्सिजन की आपूर्ति में लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि आईएमए की तरफ से जो भी योजना मिलेगी उसे शीघ्र अमलीजामा पहनाया जाएगा।
हरियाणा आईएमए के अध्यक्ष डॉ. कर्ण पूनिया ने विश्वास दिलाते हुए कहा कि वे अपनी जिला इकाइयों से सम्पर्क कर स्वास्थ्य मंत्री की अपील पर खरा उतरेंगे और शीघ्र ही जिलों में आईएमए चिकित्सकों की सेवा मुहैया करवाएंगे। इसके लिए रोस्टर बनाकर चैस्ट, एनस्थिसिया व अन्य डॉक्टर्स की सेवाएं भी कोविड मरीजों के लिए देने का प्रयास करेंगे। उन्होंने बैठक में उपस्थित जिलों के आईएमए अध्यक्षों से भी इस संकट से बाहर निकलने में मदद करने की अपील की। इसके साथ डॉ. पूनिया ने जीन्द तथा यमुनानगर में अतिरिक्त कोविड बैडस की सुविधा सृजित करने का आश्वासन भी दिया।
बैठक में एमडी एनएचएम श्री प्रभजोत सिंह, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ वीना सिंह, सभी जिलों के सिविल सजर्नस, विभिन्न जिला इकाइयों के आईएमए अध्यक्ष व प्रतिनिधि सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x