दहेज प्रताड़ना का शिकार बनी महिला, दो मासूमों को छोड़ कुएं में लगाई छलांग

दहेज प्रताड़ना का शिकार बनी महिला, दो मासूमों को छोड़ कुएं में लगाई छलांग

दहेज प्रताड़ना का शिकार बनी महिला, दो मासूमों को छोड़ कुएं में लगाई छलांग

News Josh Live, 13 Oct, 2020

हरियाणा में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। हर दिन महिला किसी ना किसी प्रकार के अत्याचार का शिकार बन ही जाती है। ऐसा ही मामला भिवानी जिले से आया है जिसमें महिला को दहेज के लिए प्रताड़ित किया गया। वहीं प्रताड़ना से परेशान होकर महिला ने अपने दो बच्चों को अकेला छोड़कर कुएं में कूद कर जान दे दी।

मृतका के परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी को दहेज के लिए परेशान कर, उसे मार कर कुएं में डाला गया है। पुलिस ने मृतका के परिजनों के पति सहित चार लोगों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दिए बयान में गांव आसलवास मरेटा निवासी उमेद ने बताया कि वह तीन बच्चों, दो बेटों व एक बेटी का पिता है। उसकी इकलौती बेटी क़रीब 35 वर्षिय निर्मला उर्फ़ नीरू की शादी 23 जून 2007 में बापोडा गांव निवासी बजरंग के साथ हुई थी। जोकि दो बेटों की मां थी। उसके ससुराल पक्ष वाले अक्सर उसको दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। उन्होंने कई बार उनको पैसे भी दिए मगर उनकी मांग बढ़ती गई। अब वो गाड़ी की मांग कर रहे थे।

रविवार शाम को करीब छह बजे उसकी बेटी के ससुराल पक्ष से फोन आया कि निर्मला नहीं रही। सूचना मिलने पर परिजन व पुलिस घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव को कुएं से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए देर रात सामान्य अस्पताल पहुंचाया। परिजनों ने उसके ससुराल पक्ष पर दहेज की मांग पूरी न करने पर हत्या करने के आरोप लगाए हैं।

मृतक महिला निर्मला के पिता उमेद ने बताया कि दो दिन पहले शाम को निर्मला का फोन आया था। उसने अपनी मां से बात करवाने को कहा मगर उस समय वो खेत में काम कर रहे थे इसलिए बात नहीं करवा सके। उन्होंने दोबारा फोन मिलाया मगर बात नहीं हो पाई। उमेद का आरोप है कि उसके ससुराल वालों का दहेज का लालच बढ़ता ही जा रहा था। उन्होंने तीन-चार बार 20-20 हजार रुपये दिए थे। मगर फिर कार की मांग पूरी न करने पर उसके ससुराल पक्ष के लोगों ने हत्या कर कुएं में फेंक दिया।

अस्पताल में मृतक महिला के परिजन व ससुराल पक्ष के काफी लोग आए हुए थे। महिला के परिजनों ने उसके ससुराल पक्ष पर हत्या कर कुएं में फेंकने के आरोप लगाए। वहीं उसके ससुराल पक्ष के लोगों ने ऐसा न होने की बात कही, मगर उसके मायके पक्ष के लोग नहीं माने। दोनों पक्षों में जमकर कहासुनी हुई। फिर पोस्टमार्टम कक्ष में महिला के शव को देखने के लिए भी दोनों पक्षों में अनबन हो गई। पुलिस ने हंगामे को शांत करवाया।

जांच अधिकारी, सदर पुलिस थाना एसआई सुरेश ने बताया कि मृतक महिला के पति बजरंग, सास मधु, ननद निशा और ननद के बेटे यश पर विभिन्न धाराओं सहित केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x