अंतरजातीय विवाह पर मिलती है ढाई लाख की राशि, जानें कैसे उठा सकते हैं फायदा ?

अंतरजातीय विवाह पर मिलती है ढाई लाख की राशि, जानें कैसे उठा सकते हैं फायदा ?

अंतरजातीय विवाह पर मिलती है ढाई लाख की राशि, जानें कैसे उठा सकते हैं फायदा ?

News Josh Live, 30 Oct, 2020

मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी अर्चीत वाट्स ने कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री सामाजिक समरस्ता अन्तर्जातीय विवाह योजना का विश्लेषण किया। उन्होंने इस योजना की सराहना करते हुए बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री सामाजिक समरस्ता अन्तर्जातीय विवाह योजना छूआछत उन्मूलन तथा अन्तर्जातीय विवाह को प्रोत्साहित करने के लिए चलाई जा रही है।

मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी अर्चीत वाट्स ने बताया कि इस योजना के तहत लाभपात्रों को विभाग द्वारा 2 लाख 50 हजार रुपए की राशि प्रति जोडे को प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रदान की जाती है। दो लाख 50 हजार रुपए में से 1 लाख 25 हजार रुपए सीधे बैंक में तथा 1 लाख 25 हजार रुपए की तीन साल के लिए फिक्स डिपोजिट किए जाते हैं।

इस योजना में आवेदन करने पर आवेदक को शर्तों व हिदायतों की पालना करना जरूरी है, जिसमें वर-वधू दोनों भारत के नागरिक होने चाहिएं, वर व वधू में से एक पक्ष अनूसूचित जाति से होना चाहिए और वह हरियाणा का स्थाई निवासी होना चाहिए। वर-वधू दोनों बालिग होने चाहिए। प्रोत्साहन राशि केवल पहले विवाह हेतू प्रदान की जाएगी। आवेदन-पत्र विवाह के तीन वर्ष के भीतर देना होगा।

प्रार्थी हरियाणा सरकार की वैबसाईट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.एसएआरएएलएचएआरवाईएएनए.जीओवी.आईएन पर आनलाईन आवेदन पत्र अपलोड करें। यह आवेदन अंत्योदय भवन पुराना कोर्ट पलवल तथा उप-मण्डल स्तर पर अंत्योदय सरल केन्द्रों में मात्र 10 रुपए आवेदन शुल्क पर एप्लाई किए जा सकते हैं।

इस स्कीम के तहत वर्ष 2019-20 में आठ जोडों को तथा वर्तमान में चार जोडों को योजना का लाभ दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए जिला कल्याण अधिकारी तथा संबंधित तहसील कल्याण अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है।

News Josh Live

यह भी पढ़ें

कुछ खास x